ब्रैंड एडवरटाइज़िंग क्यों ज़रूरी है

19 जनवरी, 2021 | लेखक: लीला गैब्रोवेक

ब्रैंड एडवरटाइज़िंग कंपनियों को जागरूकता फ़ैलाने, अपनी पहुँच बढ़ाने, और कस्टमर को अपने ब्रैंड के नाम की अच्छे से पहचान कराने में मदद करता है. ऐसा वह उनकी ब्रैंड स्टोरी दिखाकर करता है. ब्रैंड किस तरह अपने ऑडियंस के साथ जुड़ते और हर टच पॉइंट पर उनका भरोसा जीतते हैं, इसमें स्टोरी की एक मुख़्य भूमिका निभाती है. चाहे वह जागरूकता, ख़रीदने पर विचार, कन्वर्शन या विश्वसनीयता के स्टेज पर हो.

कस्टमर का भरोसा जीतना

Edelman की स्टडी के मुताबिक़, जब कस्टमर लंबे समय तक किसी ब्रैंड पर भरोसा करता है, तो उनके उस ब्रैंड के प्रोडक्ट ख़रीदने, विश्वसनीयता बनाए रखने और ब्रैंड की वकालत करने की संभावना दोगुनी हो जाती हैं. साथ ही, किसी ब्रैंड के मैसेज को तीन अलग-अलग चैनलों पर बार-बार देखने से, उस मैसेज में कस्टमर का भरोसा मजबूत होता है.1 मौजूदा कस्टमर और नए संभावित कस्टमर का भरोसा जीतने के लिए, फ़ुल-फ़नेल में जुड़ना और बातचीत करना ज़रूरी होता है.

एडवरटाइज़िंग के इतिहास में, ऐड के असर को लेकर की गईं अब तक की सबसे बड़ी स्टडी में से एक पीटर फ़ील्ड और लेस बिनेट द्वारा की गई है. जिसमें बताया गया है कि ग्रोथ बढ़ाने के लिए सबसे असरदार मीडिया रणनीति वह है, जिसमें 60 प्रतिशत ब्रैंड बनाने पर ध्यान दिया गया हो और इसके लिए लोगों तक पहुंच बढ़ाने की रणनीति का इस्तेमाल किया गया हो. साथ ही, 40 प्रतिशत सेल्स एक्टिवेशन उन कस्टमर तक पहुंचने के लिए हो, जो आपको लगता हैं खरीदारी करने में दिलचस्पी ले सकते हैं.2 तो, स्टडी के मुताबिक, आपको उन कस्टमर पर तो ध्यान देना ही चाहिए जो पहले से आपके ब्रैंड को जानते हैं, लेकिन उससे ज़्यादा उन पर जो नहीं जानते हैं. ब्रैंड एडवरटाइज़िंग दोनों करने के कई मौके देता है.

ब्रैंड एडवरटाइज़िंग के साथ ज़रूरी मौके

अपने वैल्यू प्रॉप के बारे में ऑडियंस को बताएँ

ब्रैंड एडवरटाइज़िंग कस्टमर को ब्रैंड स्टोरी के साथ एंगेज करने के अलावा, आपको ऑडियंस को अपने वैल्यू प्रपोज़िशन और प्रोडक्ट ऑफ़रिंग बताने के भी मौके देता है. साथ ही, Amazon Ads के फ़र्स्ट-पार्टी शॉपिंग इनसाइट के साथ, आप अपनी ब्रैंड मैसेजिंग की मदद से सम्बंधित ऑडियंस तक असरदार तरीक़े से पहुँच सकते हैं, जब वे कहीं भी शॉपिंग कर रहे हों.

मल्टीचैनल अप्रोच

आपकी मीडिया रणनीति में शामिल करने लायक कुछ चैनल हैं, ब्रैंड-सेफ़, प्रीमियम कॉन्टेंट जैसे कि मूवीज़ और म्यूज़िक. वीडियो ऐड, डिस्प्ले ऐड या ऑडियो ऐड की मदद से आप ऐसा अप्रोच रख सकते हैं जो आपकी एडवरटाइज़िंग को उस कॉन्टेंट के साथ जोड़ें जिससे आपके ऑडियंस एंगेज होते हैं. यह पक्का करने के लिए कि आपकी कोशिश काम कर रही है, आप अपनी परफ़ॉर्मेंस ज़्यादा से ज़्यादा करने के लिए, अपने कैम्पेन को ऑप्टिमाइज़ करने के लिए ब्रैंड-स्पेसिफ़िक मेट्रिक का फ़ायदा ले सकते हैं.

ब्रैंड मेट्रिक रिव्यू करना

ब्रैंड एडवरटाइज़िंग के साथ ज़रूरी है कि आप अपनी परफ़ॉर्मेंस के दायरे को ऐसे मेट्रिक भी शामिल करने के लिए खोलें जो सीधे तौर पर ऐड पर ख़र्च से हुए फ़ायदे (ROAS) से न जुड़े हों. पहुँच और क्लिक-थ्रू दर जैसे ब्रैंड मेट्रिक का इस्तेमाल करने से आपको अपनी मीडिया रणनीति के असर को समझने में मदद मिल सकती है. साथ ही, आप यह भी जान सकते हैं कि आप बेहतर परफ़ॉर्मेंस के लिए कहाँ ऑप्टिमाइज़ कर सकते हैं. इसके अलावा, Amazon Attribution आपकी यह समझने में मदद कर सकता है कि आपके क्रॉस-चैनल डिजिटल ऐड कैम्पेन, Amazon पर बिक्री में किस तरह शामिल हैं.

ये सभी मौके आपको कस्टमर के लिए अपने ब्रैंड के बारे में जागरूकता बनाने में मदद करेंगे और अगर अच्छे से किया गया, तो इससे लंबे-समय की ग्रोथ पर असर होगा. आपके ब्रैंड एडवरटाइज़िंग के लक्ष्य हासिल करने में मदद करने के लिए, Amazon Ads ब्रैंड एडवरटाइज़िंग के सारे प्रोडक्ट और मेजरमेंट सोल्यूशन ऑफ़र करता है.

क्या आप इस बारे में ज़्यादा जानना चाहते हैं? अपने अकाउंट एक्ज़ीक्यूटिव से जुड़ें या आज ही Amazon Ads के साथ शुरू करें.

1 Edelman, इन ब्रैंड वी ट्रस्ट, 2019
2 पीटर फ़ील्ड और लेस बिनेट, IPA, 'मीडिया इन फ़ोकस - मार्केटिंग इफ़ेक्टिवनेस इन द डिजिटल एरा', जून 2017

महिला का हेडशॉट

लीला Amazon Ads में सीनियर प्रोडक्ट मार्केटिंग मैनेजर हैं. लीला उभरते ब्रैंड के लिए ब्रैंड एडवरटाइज़िंग प्रोडक्ट पोर्टफ़ोलियो लीड करती हैं. इसमें Streaming TV ऐड (OTT ऐड), ऑडियो ऐड, डिसप्ले, ऑनलाइन वीडियो, और Sponsored Brands शामिल हैं.

Amazon में जुड़ने से पहले, लीला Uber Eats के लिए प्रोडक्ट मार्केटिंग लीड थीं. वहां वह उनकी मार्केटिंग टेक्नोलॉजी और एडवरटाइज़िंग प्रोडक्ट पोर्टफ़ोलियो मैनेज करती थीं. वह Celtra में प्रोडक्ट मार्केटिंग डायरेक्टर भी रही हैं, जो क्रिएटिव ऑटोमेशन टेक्नोलॉजी की सेवा देती है. उन्होंने फ़्लोरिडा स्टेट यूनिवर्सिटी से मार्केटिंग में बैचलर ऑफ़ साइंस किया है.