1.0 सामान्य क्रिएटिव गाइडलाइन

हम हमेशा एक जैसा, बेहतरीन क्वालिटी का कस्टमर अनुभव पक्का करने के लिए ऐड कॉन्टेंट में एक हाई क्रिएटिव बार अप्लाई करते हैं. इस सेक्शन की पॉलिसी सभी ऐड पर अप्लाई होती हैं और कम से कम क्वालिटी बार पक्का करने का काम करती है. ये पॉलिसी सभी जगहों के सभी डिस्प्ले ऐड पर तब तक अप्लाई होती हैं जब तक कि अलग से कहा न जाए. सभी प्रोडक्ट या लोकेल वेरिएशन संबंधित सेक्शन में दिए गए हैं.

1.1 एडवरटाइज़र ब्रैंडिंग

विज्ञापन में आपका ब्रैंड का नाम या लोगो साफ तौर पर दिखाई देना चाहिए ताकि यह पक्का किया जाए कि कस्टमर आपको आसानी से एडवरटाइज़र के रूप में पहचान सकते हैं.

  • विज्ञापनदाता के ब्रैंड का नाम या लोगो विज्ञापन में साफ दिखाई देना चाहिए ताकि यह पक्का किया जा सके कि कस्टमर आसानी से एडवरटाइज़र की पहचान कर सकें.
  • अगर किसी ऐड में आपके ब्रैंड का नाम या लोगो और Amazon लोगो दोनों हैं, तो आपके ब्रैंड का नाम या लोगो सबसे बड़ा और सबसे प्रमुख होना चाहिए.
  • फिल्मों, टीवी शो, वीडियो गेम, संगीत शीर्षक और ऐप्स का प्रचार करने वाले ऐड के लिए, बैंड का नाम या टीवी शो, मूवी या वीडियो गेम का शीर्षक ब्रैंड का नाम माना जा सकता है.
  • ब्रैंड लोगो में मौजूद टेक्स्ट कम से कम फ़ॉन्ट आकार का हो ऐसा ज़रूरी नहीं है. बशर्ते, एडवरटाइज़र पहचाना जा सकता हो.
  • मोबाइल ऐड: 320x50, 414x125, और 728x90 मोबाइल ऐड पर, जहां ऐड यूनिट सीमित हैं, यदि लोगो का टेक्स्ट पढ़ा नहीं जा सकता (दिखने के लिए कम से कम न्यूनतम फ़ॉन्ट आकार), तो लोगो को ऐड की ऊंचाई का कम से कम 100% या ऐड की चौड़ाई का कम से कम 20% में दिखाया जाना चाहिए.

1.2 बैकग्राउंड कलर और बॉर्डर

यह ज़रूरी है कि कस्टमर पेज पर स्पॉन्सर नहीं किए गए कॉन्टेंट और ऐड में अंतर कर पाएं. Amazon बैकग्राउंड कलर और डिज़ाइन पर कुछ प्रतिबंध लगाता है. ऐसा करके यह पक्का किया जाता है कि पेज के ऐड, स्पॉन्सर नहीं किए गए कॉन्टेंट से अलग हैं और कस्टमर किसी ऐड से जुड़े क्लिक किए जा सकने वाले जगहों की पहचान कर सकते हैं.

  • बिना बॉर्डर वाले ऐड में सफे़द या ऑफ़-व्हाइट बैकग्राउंड कलर नहीं हो सकता है.
  • अगर किसी ऐड में बॉर्डर नहीं है, तो इसमें एक बैकग्राउंड कलर होना चाहिए जो पेज के व्हाइट/ऑफ़-व्हाइट बैकग्राउंड कलर से अलग हो. उदाहरण के लिए, बिना बॉर्डर के ऐड में हल्का भूरा बैकग्राउंड कलर हो सकता है.
  • मोबाइल ऐड में क्रिएटिव को बांटने वाला सफे़द रंग का बार नहीं हो सकता है, क्योंकि यह Amazon Mobile गेटवे हाउस क्रिएटिव के एलिमेंट की नकल करता है.
  • ज़्यादातर स्क्रीन घेरने वाले ऐड (जैसे मोबाइल इंटरस्टीशियल ऐड, टैबलेट और Kindle वेकस्क्रीन ऐड) या ऐड प्लेसमेंट डिज़ाइन (जैसे मार्की ऐड, Seller Central लॉग-इन और होमपेज प्लेसमेंट) की वजह से उनके पेज बैकग्राउंड से अलग होते हैं, उन्हें बॉर्डर की ज़रूरत नहीं होती है. हर ऐड प्रोडक्ट के लिए बैकग्राउंड और बॉर्डर से जुड़ी ज़रूरतों के बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए अलग-अलग विवरण पेज देखें.
  • केवल अमेरिका और EU: नीचे दिखाए गए चमकीले, बेहद चमकदार रंग, 970x250 बिलबोर्ड BTFऔर 600x500 मोबाइल होमपेज BTF में फुल-ब्लीड ऐड बैकग्राउंड कलर के रूप में प्रतिबंधित हैं. यह नीचे दिखाए गए कलर पर तब अप्लाई होता है जब किनारों पर बिना ग्रेडिएंट या पैटर्न के 100% एक ही बैकग्राउंड कलर इस्तेमाल किया जाता है. इन प्लेसमेंट में, चमकीले कलर का इस्तेमाल केवल ध्यान दिलाने वाले कलर या हाइलाइट कलर के रूप में किया जा सकता है. बस नीचे दिखाए गए शेड प्रतिबंधित हैं. गहरे रंग वाले बैकग्राउंड कलर की अनुमति है.

970x250 बिलबोर्ड BTF, 600x500 मोबाइल होम पेज BTF +टैबलेट शॉपिंग ऐप एचपी, और 19 40x500 टैबलेट शॉपिंग ऐप्स पर प्रतिबंधित चमकीले, बेहद चमकदार कलर:

हमारे सबसे प्रमुख प्लेसमेंट में फुल-ब्लीड और बैकग्राउंड कलर के रूप में चमकीले, बेहद चमकदार कलर को अनुमति नहीं है.

हमारे सबसे प्रमुख प्लेसमेंट में फुल-ब्लीड और बैकग्राउंड कलर के रूप में चमकीले, बेहद चमकदार कलर को अनुमति नहीं है.

1.3 बॉर्डर

बॉर्डर के इस्तेमाल से जुड़ी हमारी शर्तें यह पक्का करती हैं कि कस्टमर किसी ऐड पर क्लिक किए जा सकने जगहों की पहचान कर सकें.

नीचे दी गई ऐड यूनिट को बॉर्डर की ज़रूरत नहीं है:

  • मार्की - ऐड
  • मोबाइल इन्टर्स्टिशल ऐड
  • मोबाइल/टैबलेट एनकोर ऐड
  • Fire टैबलेट वेक स्क्रीन
  • Kindle स्क्रीनसेवर
  • अगर ऐड में व्हाइट या ऑफ-व्हाइट बैकग्राउंड है, तो उसमें एक विज़िबल बॉर्डर दिखाई देना चाहिए. नीचे दिए गए मोबाइल प्लेसमेंट को छोड़कर बॉर्डर 1-पिक्सेल का होना चाहिए: 2-पिक्सेल बॉर्डर (2x में)
    • होमपेज 600x500
    • होमपेज टैबलेट शॉपिंग ऐप 600x500
  • 3-पिक्सेल बॉर्डर (3x में)
    • जानकारी पेज 1242x375
    • शॉपिंग रिज़ल्ट पेज 1242x375

1.4 ध्यान बंटाने वाले ऐड

विज्ञापनों में एनीमेशन फ़ीचर और दूसरे इंटरैक्टिव एलिमेंट आकर्षक होने चाहिए और बेहतर कस्टमर का अनुभव होना चाहिए. साथ ही, उनका ध्यान नहीं भटकाना या धोखा नहीं देना चाहिए.

प्रतिबंधित ध्यान बंटाने वाली विशेषताओं में शामिल हैं, लेकिन इन्हीं तक सीमित नहीं है:

  • फ्लैशिंग, ब्लिंकिंग या पल्सेटिंग ऑब्जेक्ट, इमेज या फिर टेक्स्ट. ऐड एलिमेंट जो तीन सेकंड तक उभरते हैं (जैसे कि एक CTA बटन जो किसी ऐड के आखिर में संक्षेप में एनिमेट करता है) की अनुमति है. बशर्ते, वे उपयोगकर्ता सहभागिता की नकल न करें.
  • बार-बार या तेज कंट्रास्‍ट ट्रांज़िशन (उदाहरण के लिए, व्हाइट से ब्लैक कलर के कई कलर वाले फ्रे़म).
  • बहुत ज़्यादा ऐनीमेशन (उदाहरण के लिए, हर 1 या 2 सेकंड में फ्रे़म में बदलाव होता है या ऐनीमेशन के भीतर ही दिखाई देने वाली चीज़ें लगातार चलती दिखती हैं).
  • ऐनीमेशन जो उपयोगकर्ता इंटरैक्शन की नकल करता है, जैसे माउस कर्सर चलाना या बटन पर क्लिक करना.
  • ऑब्जेक्ट, इमेज या टेक्स्ट जो ऐड में माउस-ओवर होने के जवाब में एनिमेट करते हैं (इसकी केवल Amazon से चलने वाले विज्ञापनों में ही अनुमति है).

1.5 झूठी फ़ंक्शनैलिटी

झूठी फ़ंक्शनैलिटी कस्टमर को चालाकी से यह विश्वास दिलाकर ऐड पर क्लिक करा सकती है कि ऐड के कुछ चालू नहीं किए गए एलिमेंट इंटरैक्टिव हैं और उन्हें वैल्यू दिला सकते हैं.

ऐड एलिमेंट जो एक कस्टमर को आमतौर पर इंटरेक्ट करने देता है, वह काम करना चाहिए. उदाहरण के लिए, कस्टमर को “अपना ज़िप कोड डालने” के लिए प्रेरित करने वाले मुफ़्त टेक्स्ट फ़ील्ड वाले ऐड को उस कस्टमर के पोस्टकोड के हिसाब से जानकारी वाले लैंडिंग पेज पर ले जाना चाहिए. एक सामान्य लैंडिंग पेज पर ले जाने या ज़िप कोड को फिर से डालने के लिए कहना प्रतिबंधित है.

1.6 इमेज की क्वालिटी

पेज का बाकी कॉन्टेंट के हिसाब से होने और यह पक्का करने के लिए कि कस्टमर विज्ञापन को पढ़ और समझ सकें, हम कम-क्वालिटी वाली इमेज (जैसा कि नीचे दिया गया है) को प्रतिबंधित करते हैं.

ऐड में इस्तेमाल होने वाली इमेज को फ़ाइल साइज़, रिज़ॉल्यूशन और फ़ाइल प्रकार से जुड़ी शर्तों को पूरा करना चाहिए जिन्हें हर साइज़/प्लेसमेंट के मुताबिक तय किया गया है (ज़्यादा जानकारी के लिए ऐड स्पेसिफ़िकेशन देखें).

खराब क्वालिटी की इमेज में इस तरह की इमेज शामिल हैं लेकिन ये सिर्फ़ इन तक ही सीमित नहीं हैं: एक क्रिएटिव में कई सारे विज़ुअल ऑब्जेक्ट यानी इमेज में बहुत सारी चीज़ें दिखाई देना, धुंधली, बिगड़ी हुई, लो-रिज़ॉल्यूशन, फ़टे हुए पिक्सेल, फैले हुए रंग या फैली हुई इमेज.

1.7 पॉप-अप और पॉप-अंडर

घुसपैठ करने वाले पॉप-अप और पॉप-अंडर कई क्वालिटी वाले दिक्कतें दिखाते हैं, जिसमें कस्टमर को स्क्रीन पर अचानक दिखाई देने वाले ऐसे कॉन्टेंट से हैरान करना शामिल है जो पेज लोड होने की गति धीमा कर देता है. हम कस्टमर को घुसपैठ और निराशाजनक अनुभवों से बचाने के लिए, पॉप-अप और पॉप-अंडर के इस्तेमाल को प्रतिबंधित करते हैं.

ये चीज़ें प्रतिबंधित हैं:

  • सभी पॉप-अंडर.
  • पॉप-अप टैब, विंडो या मोडल जब तक कि वे एडवरटाइज़ सर्विस से संबंधित न हों और कस्टमर के अनुभव के लिए फायदेमंद न हों. उदाहरण के लिए, कस्टमर की जगह के हिसाब से सर्विस देने के लिए, लैंडिंग पेज पर जगह के प्रॉम्प्ट का इस्तेमाल किया जाता है.
  • “बाहर निकलने से जुड़ी रणनीतियां” जैसे कि कस्टमर को पेज बंद करना है या नहीं इसके बारे में कई बार पूछकर पक्का करना.

1.8 Sponsored Display कस्टम इमेज

कस्टम इमेज की मदद से, आप ऐसी आकर्षक इमेज शामिल कर सकते हैं जो ऐड में आपके प्रोडक्ट या ब्रैंड को किसी कॉन्टेक्स्ट में या लाइफ़स्टाइल सेटिंग में दिखाते हैं. इमेज, लैंडिंग पेज के उलट नहीं होनी चाहिए और हाई रिज़ॉल्यूशन और क्वालिटी में होनी चाहिए. साथ ही, आंखों को भानी चाहिए. इमेज में नीचे बताई गई ये बातें नहीं होनी चाहिए:

  • ठोस या पारदर्शी बैकग्राउंड पर एक या बहुत सारे प्रोडक्ट की इमेज होना.
  • कोई एक ब्रैंड लोगो या लोगो का कॉम्बिनेशन होना.
  • आपकी चुनी हुई प्रोडक्ट इमेज में से एक होना.
  • एक साथ, बहुत ज़्यादा, बेकार तरीके से क्रॉप किए हुए या साफ़ न दिखने वाले एलिमेंट शामिल होना.
  • इमेज में सामान्य तौर पर मौजूद टेक्स्ट के अलावा अतिरिक्त टेक्स्ट होना (जैसे कि प्रोडक्ट की पैकेजिंग पर).
  • लेटरबॉक्स या पिलर बॉक्स फ़ॉर्मेट शामिल होना.

इमेज के उदाहरणों के लिए नीचे देखें और ज़्यादा जानकारी के लिए Amazon के खरीदारों को एंगेज करने के लिए ब्रैंड क्रिएटिव बनाने का तरीका देखें.

एक और एक से ज़्यादा प्रोडक्ट इमेज:

लाइफ़स्टाइल सेटिंग में दिखाया गया प्रोडक्ट

एक प्रोडक्ट इमेज

कॉन्टेक्स्ट के हिसाब से दिखाया गया प्रोडक्ट

कई प्रोडक्ट इमेज

एक और एक से ज़्यादा लोगो:

एक ब्रैंड लोगो

कई ब्रांड लोगो

एक साथ कई इमेज और टेक्स्ट इमेज:

एक साथ दिखने वाली और बेकार तरीके से क्रॉप की गई इमेज

इमेज में टेक्स्ट

लेटरबॉक्स या पिलरबॉक्स फ़ॉर्मेट:

लेटर बॉक्स इमेज

पिलर बॉक्स इमेज

एडवरटाइज़िंग से जुड़ी पॉलिसी