सबसे बड़े ऐप एडवरटाइज़र की ओर से डाउनलोड को और बेहतर बनाने के लिए, इस्तेमाल की जाने वाली 3 रणनीतियाँ

इनकी ओर से: जेसी ल्यू, एनालिटिक्स और मीडिया मैनेजर

स्ट्रीमिंग एप्लिकेशन इंडस्ट्री (SVOD, AVOD, VMVPD) में ऐड कैम्पेन की सफलता का मूल्यांकन करते समय यह सिर्फ़ ऐप डाउनलोड की संख्या को ही नहीं दिखाता, बल्कि यह भी दिखाता है कि ऐप कितनी आसानी से डाउनलोड होता है. 2020 के Amazon Ads की स्टडी में इसकी अहमियत के को हाइलाइट किया गया है.

स्टोरी के हाइलाइट:

स्ट्रीमिंग एप्लिकेशन (SA) इंडस्ट्री, जिसमें सब्सक्रिप्शन वीडियो-ऑन-डिमांड (SVOD), ऐड-सपोर्टेड वीडियो-ऑन-डिमांड (AVOD) और वर्चुअल मल्टीचैनल वीडियो प्रोग्रामिंग डिस्ट्रीब्यूटर (VMVPD) शामिल हैं, अक्सर अलग-अलग एडवरटाइज़र की परफ़ॉर्मेंस की तुलना करने के लिए ऐप डाउनलोड की संख्या का इस्तेमाल करता है. Amazon Ads में, हम मानते हैं कि सिर्फ़ ऐप डाउनलोड की कुल संख्या पर विचार करना ही काफ़ी नहीं है, बल्कि ऐप डाउनलोड करना कितना आसान है यह भी मायने रखता है: देखें कि कितने इम्प्रेशन डाउनलोड में बदलते हैं.

ऐप डाउनलोड करना कितना आसान है इसकी गणना करने के लिए, हमने 2020 में Amazon पर SA कैटेगरी में 38 ब्रैंड के प्रति हजार इम्प्रेशन (DPM) डाउनलोड का विश्लेषण किया. इस विश्लेषण में हमने देखा कि सबसे अच्छा परफ़ॉर्म करने वाले ऐप एडवरटाइज़र ऐप डाउनलोड करने के मामले में अन्य एडवरटाइज़र की तुलना में 22x ज़्यादा कुशल हैं. एडवरटाइज़र को उनकी डाउनलोड की सुविधा को बेहतर बनाने में मदद करने के लिए, हम सबसे अच्छा परफ़ॉर्म करने वालों की ओर से इस्तेमाल की जाने वाली रणनीतियों को अलग-अलग नज़रिए से देखते हैं और परफ़ॉर्मेंस बेहतर बनाने के सुझाव देते हैं.

हमने अपना डेटा किस तरह इकट्ठा किया, इस बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए, इस आर्टिकल के आख़िर में मेथडोलॉजी सेक्शन देखें.

1. सबसे अच्छा परफ़ॉर्म करने वाले ऐप एडवरटाइज़र, Streaming TV ऐड, मोबाइल ऐड, और Fire TV स्पॉन्सर्ड टाइल को मिलाते हैं

इस स्टडी से पता चलता है कि Streaming TV ऐड, Fire TV स्पॉन्सर्ड टाइल और मोबाइल ऐड को मिलाने वाले ब्रैंड ने उन एडवरटाइज़र की तुलना में 22 गुना ज़्यादा ऐप डाउनलोड किए (और 2 गुना ज़्यादा इम्प्रेशन डिलीवर किए) हैं जो सिर्फ़ Streaming TV ऐड का इस्तेमाल करते थे.

22% ज़्यादा

डाउनलोड करने में कितना कुशल है

2 गुना

ज़्यादा इम्प्रेशन

सुझाव

कैम्पेन का प्लान बनाते समय, हम एडवरटाइज़र को इन चीज़ों का सुझाव देते हैं:

  • Fire TV, Fire टैबलेट, और मोबाइल पर ऐड चलाने पर विचार करें.
  • यह पक्का करने के लिए कि कस्टमर को सभी डिवाइस पर अच्छा अनुभव मिले, इसके लिए डिवाइस के मुताबिक़ ऐड क्रिएटिव बनाएँ.

2. सबसे अच्छा परफ़ॉर्म करने वाले ऐप एडवरटाइज़र अलग-अलग तरह के ऐड क्रिएटिव बनाते हैं

किसी ख़ास मैसेजिंग के अलग-अलग वर्शन वाले क्रिएटिव कैम्पेन, ऑडियंस को ज़्यादा काम के लग सकते हैं और इसलिए उससे एंगेजमेंट बढ़ सकता है. असल में, इस विश्लेषण से पता चला है कि सबसे अच्छा परफ़ॉर्म करने वाले एडवरटाइज़र, अन्य एडवरटाइज़र की तुलना में 1.8x गुना ज़्यादा यूनीक क्रिएटिव का इस्तेमाल करते हैं.

सुझाव

एडवरटाइज़र को लगातार अपने क्रिएटिव को रिफ़्रेश करते रहना चाहिए और A/B टेस्ट करते रहने चाहिए. A/B टेस्ट यह तय करने के लिए एक असरदार और किफायती तरीका है कि दर्शकों को किस तरह का कॉन्टेंट लुभाता है. साथ ही, उन्हें फालतू खर्च करने से भी रोकता है. हम यह समझने के लिए कि डाउनलोड की संख्या को कैसे बढ़ाया जाए अलग-अलग कॉल टू ऐक्शन और कॉन्टेंट प्रकार जैसे एलिमेंट को टेस्ट करने की सलाह देते हैं. आख़िर में, हम एडवरटाइज़र को एडवरटाइज़िंग का कॉन्टेंट और क्रिएटिव सेटअप आम ऑडियंस के लिए सही हैं और Amazon की पॉलिसी का पालन करने के लिए ऐड डिज़ाइन, कॉल टू ऐक्शन, दावों, क्रिएटिव में प्राइसिंग और लैंडिंग पेज की जाँच करने की याद दिलाते हैं.

3. सबसे अच्छा परफ़ॉर्म करने वाले ऐप एडवरटाइज़र नेगेटिव कीवर्ड का फ़ायदा उठाते हैं

सबसे अच्छा परफ़ॉर्म करने वाली ऑडियंस, अन्य एडवरटाइज़र की तुलना में नेगेटिव कीवर्ड से जुड़ी रणनीति का 6-10% ज़्यादा इस्तेमाल करती हैं और वे ज़्यादा कुशलता से ऐप डाउनलोड कर लेती हैं.

सुझाव

शैली, स्ट्रीमिंग, लाइफ़स्टाइल और कैम्पेन के उद्देश्यों के साथ अलाइन इन-मार्केट व्यवहार सिग्नल के आधार पर कस्टम ऑडियंस सेगमेंट बनाने के लिए Amazon Ads टूल का इस्तेमाल करें. यह समझने के लिए कि कौन-सी ऑडियंस कैम्पेन का जवाब नहीं दे रहे हैं और आगे आने वाले समय में उन्हें कैम्पेन से बाहर करने के लिए, स्टैंडर्ड ऑडियंस परफ़ॉर्मेंस रिपोर्ट का इस्तेमाल करें.

मेथडोलॉजी

इस स्टडी में, हमने 2020 के दौरान जनवरी से लेकर दिसंबर तक 12 महीनों की एडवरटाइज़िंग में अमेरिका में स्ट्रीमिंग एप्लिकेशन कैटेगरी में 38 ब्रैंड का विश्लेषण किया. स्ट्रीमिंग ऐप कैटेगरी में ऐसे एडवरटाइज़र शामिल हैं जो सब्सक्रिप्शन वीडियो-ऑन-डिमांड, ऐड-सपोर्टेड वीडियो-ऑन-डिमांड, और वर्चुअल मल्टीचैनल वीडियो प्रोग्रामिंग डिस्ट्रीब्यूटर (VMVPD) जैसी सेवाएं देते हैं.

हमने सफलता को मापने के लिए ऐप डाउनलोड की कुशलता मेट्रिक के रूप में प्रति हजार इम्प्रेशन (DPM) डाउनलोड का इस्तेमाल किया. फिर हमने मशीन लर्निंग एल्गोरिदम के साथ DPM को बढ़ाने में मदद करने के लिए सबसे अच्छी एडवरटाइज़िंग रणनीतियों को पहचाना. पियर्सन कॉरेलेशन, लिनियर रिग्रेशन, XGBoost, और विषय वस्तु विशेषज्ञ के सुझावों का इस्तेमाल सुविधाओं के वजन को असाइन करने के लिए किया जाता है. यह विश्लेषण सबसे ज़्यादा और सबसे कम DPM वाले एडवरटाइज़र के बीच सबसे बड़े अंतर को दिखाता है. साथ ही, परफ़ॉर्मेंस या दावे की वजह का अनुमान नहीं लगाता है.

क्लस्टरिंग किस तरह काम करती है?

हमने DPVR के आधार पर एक बाइनरी कम्पोज़िट स्कोर बनाया, और फिर यह पहचानने के लिए XGBoost क्लासिफ़ायर लागू किया कि कौन-सी विशेषताएं इन लेबल का सबसे अच्छा अनुमान लगाती हैं. ऐसा करने में, हमने एडवरटाइज़िंग ऐक्शन को एक ऐसा फ़ीचर माना जो कि ऐड प्रोडक्ट यूसेज़ इंटेंसिटी और मिक्स, एडवरटाइज़िंग सपोर्ट का समय, टार्गेटिंग की रणनीति, क्रिएटिव और प्लेसमेंट, कस्टमर रिव्यू काउंट और रेटिंग, क्वालिटी प्रोडक्ट पेज वाले प्रोडक्ट का प्रतिशत, और ऐड में प्रमोटेड प्रोडक्ट के प्रकार है.

ऊपर बताए गए फ़ीचर और वजन का इस्तेमाल करते हुए, हमने एडवरटाइज़र को क्लस्टर में बांटने के लिए k-मेडॉइड क्लस्टरिंग एल्गोरिदम अप्लाई किया. ध्यान दें कि हमने एडवरटाइज़र को उनके कम्पोज़िट स्कोर के कॉम्पोनेंट के बजाय उनके ऐक्शन के आधार पर बांटा है. अंत में, हमने आखिरी क्लस्टर को उनके कम्पोज़िट स्कोर से सबसे ज़्यादा से लेकर सबसे कम तक रैंक दिया. क्लस्टर 1 सबसे ज़्यादा कंपोज़िट स्कोर के साथ सबसे ज़्यादा सफल क्लस्टर है और क्लस्टर 5 सबसे कम सफल है.