Sponsored Brands वीडियो ऐड बनाने की गाइड

Amazon पर खरीदारी करते समय, कस्टमर को आपके प्रोडक्ट और ब्रैंड को खोजने में मदद करने के लिए Sponsored Brands वीडियो का इस्तेमाल करें. एक सफल Sponsored Brands वीडियो के लिए बड़े बजट, फिल्म सेट या स्पेशल इफ़ेक्ट की ज़रूरत नहीं होती.

अपने वीडियो के साथ डेस्कटॉप और मोबाइल शॉपिंग नतीजों में अलग पहचान पाने के लिए टॉप 10 टिप्स जानें

Sponsored Brands वीडियो के साथ अपने ब्रैंड की कहानी बताने वाले बाकी एडवरटाइज़र के इस उदाहरण को देखें.

1. अपने मैसेज से जुड़े रहना

कॉन्टेंट का कस्टमर पर सबसे ज़्यादा असर तब पड़ता है, जब इसमें मुख्य मैसेज के रूप में स्पष्ट सेलिंग पॉइंट होता है. शुरू करते समय, खुद से ये सवाल पूछें:

अपने मैसेज से जुड़े रहना
  1. यह प्रोडक्ट कस्टमर के लिए क्यों अहम है?
  2. यह प्रोडक्ट, कस्टमर के लिए वैल्यू किस तरह जोड़ता है?
  3. प्रोडक्ट या मेरे ब्रैंड की कौन सी चीज़ सबसे अलग है?
  4. मेरे ब्रैंड की वैल्यू मेरे कस्टमर की ज़रूरतों को किस तरह पूरा करती हैं?

2. अपने लक्ष्य और ऑडियंस को पहचानना

अपने Sponsored Brands वीडियो में प्रोडक्ट से जुड़ी सबसे अहम जानकारी पर ध्यान रखें. साथ ही, इन्हें किसी भी ध्यान भटकाने वाली चीज़ से दूर रखें. अपना Sponsored Brands वीडियो बनाने से पहले, यह तय करें कि आप इससे क्या पाना चाहते हैं.

अपने लक्ष्य और ऑडियंस को पहचानना
  1. अगर आपके कैम्पेन का उद्देश्य ब्रैंड के बारे में जागरूकता बढ़ाना है, तो हम कस्टमर और प्रोडक्ट के बीच भावनात्मक संबंध बनाने पर ध्यान केंद्रित करने का सुझाव देते हैं.
  2. अगर आपके कैम्पेन का उद्देश्य खरीदने पर विचार या खरीदारी है, तो हम प्रोडक्ट की मुख्य विशेषताओं पर ध्यान देने और यह बताने का सुझाव देते हैं कि कस्टमर को इसे क्यों खरीदना चाहिए.
  3. अपनी ऑडियंस को जानने के लिए समय निकालें और अपना मैसेज उसी के मुताबिक बनाएं. अपने कस्टमर की दिलचस्पी और पसंद के बारे में पता करें और उन्हें समझें, ताकि उन्हें सबसे बेहतरीन सुविधाएं दे सकें. पक्का करें कि आप अपने ऐड कॉन्टेंट में प्रोडक्ट के बारे में जानकारी देने के साथ-साथ उसे इस्तेमाल करने के तरीके के बारे में भी बताते हैं. अपने कस्टमर तक सबसे अच्छे तरीके से पहुंचने के लिए ब्रैंड स्टोरीटेलिंग की अहमियत पर विचार करें.

3. कोई कहानी सुनाना

अपने Sponsored Brands वीडियो में एक कहानी शेयर करें, ताकि कस्टमर को फ़ैसले लेने के दौरान जानकारी और मदद मिले. अपने कैम्पेन के लक्ष्य के आधार पर कहानी कहने का कोई तरीका चुनें.

कोई कहानी सुनाना
  1. एजुकेशन: छोटी-मोटी बातों के बजाय अपने प्रोडक्ट की अहम बिक्री पोज़ीशन पर फ़ोकस करें, ताकि कस्टमर आपके प्रोडक्ट के बारे में जान सकें (उदाहरण के लिए, ऑप्टिमाइज़्ड v10 कोर वाला “10.5 WxH-200 कैमरा बैटरी”).
  2. कस्टमर पर असर/फ़ायदे: कस्टमर को समझाएं कि प्रोडक्ट के क्या फ़ायदे हैं और क्या यह उनके जीवन पर सकारात्मक असर डालेगा.
  3. ब्रैंड बाकी सबसे अलग है: कस्टमर को दिखाएं कि आपके ब्रैंड प्रोडक्ट सबसे खास क्यों हैं.
  4. प्रेरणा: प्रेरणा देने वाले या उम्मीद जगाने वाले वीडियो बना कर कस्टमर से जुड़ें. ऐसे वीडियो जो कस्टमर के साथ भावनात्मक रूप से जुड़ते हैं या उनकी भावनाएं दिखाते हैं, ब्रैंड और प्रोडक्ट को अलग से दिखाने में मदद करते हैं.
  5. सुंदर फ़ोटो: अपने प्रोडक्ट की सुंदर इमेज या वीडियो दिखा कर कस्टमर का ध्यान खींचें.

4. 15 से 30 सेकंड के वीडियो बनाएं

15 से 30 सेकंड के वीडियो बनाएं

किसी वीडियो का लंबे समय तक असर डालने के लिए, सबसे अच्छी लंबाई 15 से 30 सेकंड के बीच होती है. इस समय, आपका लक्ष्य अपने प्रोडक्ट की कहानी बताने के ज़रिए कस्टमर का ध्यान बनाए रखना होना चाहिए.

  • वीडियो के पहले 2 सेकंड में प्रोडक्ट दिखाएं. यह आपके लिए कस्टमर पर सबसे अच्छा पहला इम्प्रेशन बनाने का मौका है.
  • वीडियो के पहले 5 सेकंड में प्रोडक्ट फ़ंक्शन शामिल करें.
  • मोबाइल व्यू को ध्यान में रखें. पक्का करें कि पूरे वीडियो में प्रोडक्ट बहुत छोटा न दिखे.

5. लोगो और कॉल टू ऐक्शन शामिल करना

लोगो और कॉल टू ऐक्शन शामिल करना

आपका लोगो शुरुआत में या आपके Sponsored Brands वीडियो के आखिर में दिखना चाहिए, ताकि कस्टमर को याद रहे कि आप कौन हैं. वीडियो ख़त्म होने पर अपने-आप लूप में चलने लगेगा. वीडियो लूप में अटपटा ना लगे, इसके लिए ऐड के आखिर में एक एंड-कार्ड जोड़ें या क्रिएटिव का इस्तेमाल करें.

आपके Sponsored Brands वीडियो में एक साधारण CTA (कॉल टू एक्शन) जोड़ने से कस्टमर को अगली कार्रवाई करने का सुझाव देकर आप ऐड परफ़ॉर्मेंस को बेहतर बना सकते हैं. CTA को छोटा, स्पष्ट और सटीक होना चाहिए, जैसे “ज़्यादा जानें,” “ज़्यादा देखें,” या “जानकारी देखें."

quoteUpस्टैटिक टेक्स्ट और इमेज की तुलना में, वीडियो कंज़्यूमर को ज़्यादा आकर्षित करते हैं. साथ ही, यह आपकी ब्रैंड की इमेज दिखाने के लिए भी ज़रूरी चैनल हैं. बेहतरीन वीडियो आपको अलग दिखाने में मदद कर सकते हैं.quoteDown
– मि. चेन, Overseas Advertising के डायरेक्टर

6. क्लोज़्ड कैप्शन का इस्तेमाल करना

कई कस्टमर अपने मोबाइल डिवाइस पर प्रोडक्ट की तलाश करते हैं और बिना आवाज़ के ऐड देखते हैं. Sponsored Brands वीडियो ऐड ऑटोप्ले और म्यूट पर लॉन्च होते हैं, जिनमें कस्टमर के क्लिक करने पर ऑडियो शुरू होता है. इसलिए, हम ऐसे वीडियो का सुझाव देते हैं, जिन्हें आसानी से समझा जा सकता है और जो बिना आवाज़ के भी एंगेजिंग होते हैं. अगर आप वॉयसओवर या ऑन-स्क्रीन एक्टर के ज़रिए कोई जानकारी दे रहे हैं, तो यह पक्का करने के लिए कैप्शन जोड़ने पर विचार करें कि कस्टमर से कोई भी अहम जानकारी न छूटे.

  1. यह पक्का करने के लिए कि टेक्स्ट को छोटी स्क्रीन वाले डिवाइस पर आसानी से पढ़ा जा सके, हम Helvetica या इससे मिलते जुलते sans-serif फ़ॉन्ट का इस्तेमाल 75 pt या 80 px के कम से कम साइज़ में करने का सुझाव देते हैं. हम 80% अस्पष्टता पर सेट किए गए काले बाउंडिंग बॉक्स के ऊपर टेक्स्ट को सफ़ेद रंग में दिखाने का भी सुझाव देते हैं.
  2. जब ऑन-स्क्रीन टेक्स्ट की बात आती है, तो कम ही बेहतर होता है. अगर आप इसका इस्तेमाल करते हैं, तो एक बड़ा टेक्स्ट साइज़ (कम से कम 30 pt या 35 px) अहम है, ताकि कस्टमर मोबाइल डिवाइस पर आसानी से पढ़ सकें.
टेक्स्ट पढ़ने में आसान है

टेक्स्ट पढ़ने में आसान है

टेक्स्ट पढ़ने में आसान नहीं है

टेक्स्ट पढ़ने में आसान नहीं है

टेक्स्ट को समझना आसान है

टेक्स्ट को समझना आसान है

टेक्स्ट को समझना आसान नहीं है

टेक्स्ट को समझना आसान नहीं है

7. पक्का करें कि वीडियो स्थानीय जगह के मुताबिक है

बिना ऑडियो ट्रैक वाले वीडियो भी स्वीकार किए जाते हैं. हालांकि, ध्यान रखें:

पक्का करें कि वीडियो स्थानीय जगह के मुताबिक है
  • कस्टमर को यह साफ़ तौर पर पता होना चाहिए कि वीडियो में कोई ऑडियो नहीं है (जैसे, ऐड में एक डिस्क्लेमर दिया गया हो जिसमें लिखा है, “कोई ऑडियो नहीं है” या बोलता हुआ कोई किरदार नहीं है).
  • कस्टमर को ऑडियो के बिना भी वीडियो समझ आना चाहिए.

वीडियो उस जगह की स्थानीय भाषा में होने चाहिए जहां ऐड दिखाए जाते हैं. अगर ऑडियो किसी अलग भाषा में है, तो स्थानीय भाषा में सबटाइटल (या टेक्स्ट का ट्रांसक्रिप्ट/अनुवाद) देना ज़रूरी है. वीडियो में, प्रोडक्ट की जानकारी और निर्देश जैसे ज़रूरी टेक्स्ट स्थानीय भाषा में होने चाहिए.

8. सही लगने वाला म्यूज़िक/ऑडियो खोजना

अपने Sponsored Brands वीडियो के लिए म्यूज़िक चुनते समय, कुछ ऐसा चुनें जो ऐड से मैच करता हो और हाई-क्वालिटी वाली ऑडियो फ़ाइल हो. खराब क्वालिटी वाला ऑडियो (खराब, अस्पष्ट, शोर-शराबा, वगैरह) आपके ऐड को कम पेशेवर बना देगा और कस्टमर के लिए ज़्यादा आकर्षक नहीं होगा. इसके अलावा, ऐसे गानों या साउंड इफ़ेक्ट से दूर रहें जो तेज़ और कर्कश हों.

सही लगने वाला म्यूज़िक/ऑडियो खोजना

9. मोबाइल कस्टमर को ध्यान में रखना

कई कस्टमर अपने मोबाइल डिवाइस पर प्रोडक्ट खोज रहे हैं. अपना Sponsored Brands वीडियो बनाते समय इसे ध्यान में रखें, खास कर जब ऐसी चीज़ों की बात आती है:

मोबाइल कस्टमर को ध्यान में रखना
  • स्क्रीन पर आपके प्रोडक्ट, लोगो, या टेक्स्ट का साइज़.
  • स्क्रीन पर आपकी ओर से शामिल की जाने वाली जानकारी.
  • क्लोज़्ड कैप्शन का इस्तेमाल.

10. सही फ़्रेम सेट करना

बेहतर कस्टमर अनुभव के लिए, लेटरबॉक्स या पिलरबॉक्स किए गए वीडियो का इस्तेमाल करने से बचें. वीडियो में कॉन्टेंट के किसी साइड में काले बार नहीं होने चाहिए. नीचे देखें:

लेटरबॉक्सिंग

लेटरबॉक्सिंग

पिलरबॉक्सिंग

पिलरबॉक्सिंग

बेहतर कस्टमर अनुभव के लिए, पक्का करें कि टेक्स्ट (क्लोज़्ड कैप्शन सहित) सेफ़ एरिया टेम्प्लेट के गहरे लाल हिस्सों में नहीं आता है.

सेफ़ एरिया टेम्प्लेट

Amazon कस्टमर को एंगेज करने के लिए, ब्रैंड क्रिएटिव बनाने के तरीके के बारे में ज़्यादा जानना चाहते हैं? हमारी एडवरटाइज़िंग गाइड पर एक नज़र डालें.

ज़रूरी है कि वीडियो हमारी पॉलिसी के साथ-साथ प्रतिबंधित कॉन्टेंट और दावे से जुड़ी शर्तों का पालन करें.