एडवरटाइज़र को ऐड क्रिएटिव की परफ़ॉर्मेंस को बेहतर बनाकर ब्रैंड का बिजनेस बढ़ाने के लिए तीन चरणों वाली अप्रोच को क्यों अपनाना चाहिए

21 दिसंबर 2021 | कार्ली कहन की कलम से, कॉन्टेंट स्पेशलिस्ट

एडवरटाइज़र को हमेशा उन तरीकों के बारे में सोचना चाहिए, जिससे वे अपने कैम्पेन को और भी असरदार बना पाएं और अपने ब्रैंड को और ज़्यादा आगे बढ़ा सकें. ऐड क्रिएटिव की परफ़ॉर्मेंस को और बेहतर बनाकर ब्रैंड अपना बिजनेस और आगे बढ़ा सकते हैं. Amazon Ads इनसाइट के साथ-साथ ऐसे विकल्प मुहैया कराता है, जिनकी मदद से एडवरटाइज़र ऐड क्रिएटिव की परफ़ॉर्मेंस को बेहतर बनाकर अपना बिजनेस बढ़ा सकते हैं.

एक औसत उपभोक्ता को, "औसतन एक दिन में 6,000 ऐड और एक साल में 25,000 नए प्रोडक्ट के ऐड दिखाए जाते हैं."1 ऐसा सोशल मीडिया, टीवी और न्यूज़ साइट जैसे कुछ चैनलों की मदद से किया जाता है. अक्टूबर में अनबॉक्सड में Amazon Ads वीडियो प्रोग्राम के मैनेजर जेरेट कॉय ने कहा, “ब्रैंड हर प्रोडक्ट और सर्विस कैटेगरी में मौजूद विकल्पों में से सबसे सही प्रोडक्ट और सर्विस चुनने में कस्टमर की मदद करते हैं.” अपनी कैटेगरी में एक अलग पहचान बनाने और कस्टमर के साथ लंबे समय तक चलने वाला भावनात्मक रिलेशन बनाने के लिए, ब्रैंड को हर हाल में ऐड क्रिएटिव की परफ़ॉर्मेंस को बेहतर करना चाहिए.

कॉय एक तीन चरण वाली अप्रोच के बारे में बताते है, जिसकी मदद से ब्रैंड ऐड क्रिएटिव की परफ़ॉर्मेंस को ऑप्टिमाइज़ करके ज़्यादा से ज़्यादा कस्टमर तक पहुंच कर अपने बिजनेस को आगे बढ़ा सकते हैं.

आइए हर चरण को एक असली उदाहरण की मदद से एक-एक कर देखते हैं: सैन फ्रांसिस्को बे कॉफी, जिसे एसएफ बे के नाम से भी जाना जाता है.

पहला चरण: मेरा उद्देश्य या लक्ष्य क्या है?

यहां, ब्रैंड के लिए खुद को कस्टमर की जगह रखकर सोचना बहुत ज़रूरी है. कॉय ब्रैंड का बिजनेस बढ़ाने के लिए तय किए गए उद्देश्यों के महत्त्व के बारे में बताते हैं—वह कहते हैं कि कस्टमर अनुभव बहुत अहम है. इसके साथ ही, इस चीज़ पर भी ध्यान दिया जाना चाहिए कि टार्गेट ऑडियंस आपके ऐड क्रिएटिव से जुड़ पा रही है या नहीं. पहले से तय किए गए उद्देश्य के लिए, ब्रैंड मुख्य परफ़ॉर्मेंस इंडिकेटर (KPI) की मदद से ऐड क्रिएटिव की परफ़ॉर्मेंस माप सकते हैं. एसएफ बे का उद्देश्य नए कस्टमर पाना और Amazon Store में अपनी ऑडियंस को बढ़ाना था.

व्यापक तौर पर कहा जाए, तो एसएफ बे का उद्देश्य नए कस्टमर पाना और Amazon पर अपना ऑडियंस बेस बढ़ाना था. Amazon ऑडियंस इनसाइट की मदद से एसएफ बे को पता चला कि 25 से 34 साल की उम्र के लोग उनकी कैटेगरी की दूसरी ब्रैंड से ज़्यादा और उनकी ब्रैंड से कम खरीदारी कर रहे थे.

दूसरा चरण: अपने क्रिएटिव की परफ़ॉर्मेंस को बेहतर करने के लिए मुझे किन इनसाइट या बेहतरीन तरीकों को अपनाना चाहिए?

Amazon Ads के पास इनसाइट और बेहतरीन तरीकों के बहुत सारे विकल्प मौजूद हैं. इसकी मदद से ब्रैंड अपनी परफ़ॉर्मेंस को और भी बेहतर बना सकते हैं. इसमें कैटेगरी बेंचमार्क, क्रिएटिव और ऑडियंस इनसाइट भी शामिल हैं.

unBoxed में, कॉय जोर देते हैं, “यह समझना बहुत अहम है कि आप कब और कैसे क्रिएटिव इनसाइट की मदद से अपने क्रिएटिव को और भी बेहतर बनाने के सबसे बेहतरीन तरीकों का इस्तेमाल करके अपनी परफ़ॉर्मेंस को और भी बढ़िया बना सकते हैं.”

Amazon Ads के पास परफ़ॉर्मेंस बेहतर करने के लिए इनसाइट और बेहतरीन तरीकों के बहुत सारे विकल्प मौजूद हैं. इसमें कैटेगरी बेंचमार्क और ऑडियंस इनसाइट शामिल हैं.
कस्टमर के रिव्यू पढ़ने के बाद, एसएफ बे को यह पता चला कि उनके कस्टमर खास फ्लेवर की कॉफ़ी और उसकी निरंतर सप्लाई को बहुत अहमियत देते हैं. उन्होंने ग्रॉसरी वर्टिकल के क्रिएटिव इनसाइट पर टैप किया और समझा कि हर KPI के परफ़ॉर्मेंस को बेहतर बनाने के लिए कौनसी चीज़ें मददगार साबित होगी.

तीसरा चरण: परफॉरमेंस को बेहतर बनाने के लिए, मैं किन क्रिएटिव एलिमेंट्स को टेस्ट कर सकता हूं?

अब, ब्रैंड का उद्देश्य बहुत साफ़ है और Amazon Ads इनसाइट को क्रिएटिव के साथ इंटीग्रेट किया गया है, जो कि इसे तीसरे चरण पर ले जाता है. इसे हम बेहतर परफ़ॉर्मेंस के लिए अपनाया जाने वाला ऑप्टिमाइजे़शन फेज कहते हैं.

कॉय सुझाव देते हैं, "टेस्टिंग और अलग-अलग एलिमेंट्स को आजमाकर आप यह देख सकते हैं कि किनसे सबसे अच्छी परफ़ॉर्मेंस मिलती है." इससे एडवरटाइज़र अपने क्रिएटिव को ऑप्टिमाइज़ करके ब्रैंड की परफ़ॉर्मेंस को और भी बेहतर कर सकते हैं. A/B टेस्ट की मदद से, एसएफ बे इस बात का पता लगाया कि उनकी निरंतर सप्लाई या खास फ्लेवर वाली कॉफ़ी की कॉपी से जवान व्यस्क ऑडियंस बढ़ी है या नहीं. इसमें दो टेस्ट शामिल थे. इसकी मदद से इस बात का पता लगाया गया कि किस कॉपी की मैसेजिंग और बैकग्राउंड स्टाइल (प्रोडक्ट पर फ़ोकस की गई या लाइफ़स्टाइल) ज़्यादा अच्छी परफ़ॉर्मेंस देगी.

एसएफ बे ब्रैंड की एक ऐसी मिसाल है. जिसने तीन-चरण के ऐड क्रिएटिव ब्लूप्रिंट का इस्तेमाल करके अपने लक्ष्यों को सफलतापूर्वक हासिल किया. फ्लेवर पर फ़ोकस की गई मैसेजिंग का इस्तेमाल करने पर उनके कैम्पेन ने क्लिक-थ्रू रेट में 8% का इज़ाफा किया. इसके साथ ही, इस ब्लूप्रिंट का इस्तेमाल करने पर उनकी ब्रैंड में नया खरीदारी में 24% इज़ाफा हुआ.2

जैसा कि कॉय ने बताया, " एसएफ बे सिर्फ़ एक उदाहरण है कि कैसे ऐड क्रिएटिव की परफ़ॉर्मेंस [ब्लूप्रिंट का इस्तेमाल करके] को बेहतर किया जा सकता है." वे एडवरटाइज़र जो अपने ब्रैंड का बिजनेस बढ़ाना चाहते हैं और अपनी क्रिएटिव परफ़ॉर्मेंस को बेहतर करना चाहते हैं, उन्हें तीन-चरण वाले ब्लूप्रिंट का इस्तेमाल करने के बारे में सोचना चाहिए.

Amazon Ads इनसाइट के बारे में ज़्यादा जानें या आज ही अपने Amazon Ads अकाउंट एक्ज़ीक्यूटिव से संपर्क करें.

1 डेविस, एस एम ब्रैंड एसेट मैनेजमेंट: अपने ब्रैंड के बिजनेस को और आगे बढ़ाएं, 2002
2 कस्टमर की तरफ से दिया गया डेटा, 2021