2021 में डिजिटल एडवरटाइज़िंग के 4 मुख्य ट्रेंड

19 जनवरी, 2021 | हीदर इंग, सीनियर द्वारा मार्केटिंग मैनेजर

हर साल उपभोक्ता के व्यवहार में बदलाव होता है, और 2020 कोई अलग नहीं था. यहां, फ़्रैंक कोशनेश, प्रेसिडेंट, वंडरमैन थॉम्पसन कॉमर्स मार्केटप्लेस सर्विसेज़, नॉर्थ अमेरिका और लीसा कॉफ़ी, एजेंसी डेवलपमेंट प्रमुख, U.S, Amazon Ads, पिछले साल उपभोक्ता व्यवहार में हुए सबसे बड़े बदलावों, और 2021 में डिजिटल एडवरटाइज़िंग के लिए उनके मायनों पर एक नज़र.

उपभोक्ताओं के ज़िंदगी जीने के नए तरीकों को अपनाना

लीसा कॉफ़ी: पिछले साल को अगर देखे, तो कुछ सबसे प्रभावशाली उपभोक्ता ट्रेंड क्या थे?

फ़्रैंक कोशनेश: यह एक बढ़िया सवाल है—कस्टमर के साथ शुरू करना और पीछे की ओर काम करना, शुरुआत करने के लिए अच्छी जगह है. ऐसे कई बदलाव हुए हैं जो हमें विश्वास है कि 2021 और उसके बाद भी हमारे साथ रहेंगे.

ओमनी-चैनल का महत्व

अपने सभी क्लाइंट पोर्टफ़ोलियो में, हमने देखा कि उपभोक्ता दुकानों के अलावा, ऑनलाइन खरीदारी भी कर रहे हैं. शुरुआती दौर में यह लॉकडाउन के चलते दुकानों पर न जा पाने की वजह से हुआ. लेकिन, हम मानते हैं कि उपभोक्ता आगे भी ऑनलाइन और दुकान पर जाकर खरीदारी करना पसंद करेंगे. ऐसा मुख्य तौर पर अगले बड़े ट्रेंड के चलते होगा.

स्वास्थ्य और सुरक्षा प्राथमिकताएं हैं

मुख्य तौर पर स्वास्थ्य और सुरक्षा देखकर खरीदने पर विचार किया जा रहा है. इससे प्रोडक्ट की मार्केटिंग, पैकेजिंग और बिक्री पर असर पड़ता है. कस्टमर अभी भी कीमत, वैल्यू, और स्थिरता की फ़िक़्र करते हैं, लेकिन वे अब स्वास्थ्य और सुरक्षा से जुड़ी जानकारी खोजते हैं. इसके साथ ही, प्रोडक्ट कहां और कैसे बनाया गया है इस बारे में भी पारदर्शिता चाहते हैं.

ज़िंदगी जीने के नए तरीकों को अपनाना

हमारे क्लाइंट बेस में, हमने खरीदारी करने के तरीकों में बदलाव देखा जो ज़िंदगी जीने के बदलते तरीकों के संकेत दे रहे हैं. आउटडोर, घर और बगीचे, और खेल के सामान की बिक्री मज़बूत थी. इसके अलावा, कुछ हद तक, स्कूल वापसी जितनी पेपर सप्लाई और कपड़ों को लेकर थी उतनी ही छात्रों के पॉड की मदद करने के लिए, आउटडोर फ़र्नीचर खरीदने को लेकर भी थी. इसके लिए लोगों ने डेस्क, कुर्सियां, और स्क्रीन खरीदीं थी.

ब्रैंड और डिजिटल कॉमर्स का मेल

LC: रिटेल एडवरटाइज़र बिक्री उद्देश्यों बनाम ब्रैंड उद्देश्यों की ओर कैसे जा रहे हैं?

FK: इस साल, मैंने सेल्स-ड्राइविंग मार्केटिंग में काफ़ी सारी गतिविधियां देखीं हैं- दूसरे शब्दों में, ऑनलाइन और परफ़ॉर्मेंस मार्केटिंग में बदलाव. क्लाइंट बिक्री अधिग्रहण को प्राथमिकता दे रहे थे और जहां हो सकता था वहां बिक्री में शेयर की मांग कर रहे थे, क्योंकि लोगों ने ऑनलाइन ज़्यादा खरीदा था.

ब्रैंड और डिजिटल कॉमर्स एक साथ जाते हैं

बावजूद इसके, ब्रैंड और डिजिटल कॉमर्स के बेहतरीन साथ को कम आंका जाता है. एक मजबूत ब्रैंड वाकई ज़रूरी होता है. मेरी मानें तो, वहां होने से जहां उपभोक्ता हैं और जहां वे दिलचस्पी लेते हैं जैसे, वीडियो, डिजिटल मीडिया, और Prime Video, Netflix, और Peacock जैसी स्ट्रीमिंग सेवाओं पर—ये सभी ब्रैंड बनाने के मौके हैं. कुछ चैनलों और गतिविधियों को जैसे डिजिटल मीडिया, ब्राउज़िंग और Stores में खरीदारी को पारंपरिक रूप से बिक्री बढ़ाने का चैनल माना जाता है. लेकिन वास्तव में वे ब्रैंड-बनाने का एक बड़ा मौका देती हैं. खास तौर पर, जब इन गतिविधियों में उपभोक्ता रुचि बढ़ रही है. अपने ब्रैंड को प्रमोट करने के लिए जो ब्रैंड एक सुरक्षित जगह खोज कर रहे हैं उन्हें ब्रैंड बनाने के अवसर और सीधे रेस्पॉन्स के लिए, “प्वाइंट ऑफ़ सेल” के बारे में सोचना चाहिए, खास तौर पर डिजिटल रूप से.

मार्केटिंग और एडवरटाइज़िंग के लिए कस्टमर-केंद्रित तरीके अपनाना

LC: आपने कस्टमर के साथ शुरू करने और पीछे की ओर काम करने के बारे में बात की थी. 2020 में कस्टमर की ओर से एजेंसी और एडवरटाइज़र ने कैसे इनोवेट किया था? और उनमें से कौनसी रणनीतियों और नीतियों को आप 2021 में भी इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं?

FK: 2020 की चुनौतियों ने कस्टमर की ओर से ब्रैंड को काफ़ी ज़्यादा इनोवेशन करने के लिए प्रेरित किया है. हमने ब्रैंड को अपनी मैसेजिंग और पैकेजिंग कस्टमर की मांग के मुताबिक करते देखी है. ऑनलाइन शॉपिंग चैनलों में, इसका मतलब था प्रोडक्ट पेज के कॉन्टेंट में बदलाव करना, उदाहरण के लिए, स्वच्छता और सुरक्षा जैसे फ़ीचरों पर ज़ोर देना. हमने कई ब्रैंड को उपभोक्ताओं के साथ सहानुभूति रखने के लिए अपने एडवरटाइज़िंग को बदलते देखा, क्योंकि वे लॉकडाउन, सोशल डिस्टेंसिंग, काम में रुकावट, और अन्य कठिनाइयों से जूझ रहे थे.

हमने कुछ कंपनियों को ब्रैंड के अनुभव में भी नए बदलाव करते देखा. उदाहरण के लिए, एक कैम्पेन जो मुझे दिलचस्प लगा, वह M&M/Mars का था. यह मानते हुए कि इस साल वास्तविक तौर पर हैलोवीन का एक अलग अनुभव होगा, M&M/Mars ने लिविंग रूम में हैलोवीन का जोश लाने की कोशिश की. उन्होंने Fire TV पर एक “स्ट्रीम एंड स्क्रीम” इवेंट स्पॉन्सर किया था, जिसे इन-स्ट्रीम वीडियो शॉपिंग ऐड के साथ जोड़ा गया था. उन्होंने हैलोवीन से पाँच दिन पहले एक Amazon Live इवेंट भी स्पॉन्सर किया था, ताकि कस्टमर को इन-होम हैलोवीन आइडिया के साथ प्रेरित किया जा सके, जिससे ट्रिक और ट्रीटिंग और आम पार्टियों से होने वाले नुकसान की भरपाई हो सके.

LC: 2021 को अगर देखें तो, एजेंसी और एडवरटाइज़र के लिए क्या मायने रखता है एडवरटाइज़िंग के लिए कस्टमर-केंद्रित तरीके अपनाना? वे आज के ओमनी-चैनल लैंडस्केप में कस्टमर के अनुभव को कैसे बेहतर बनाते रहेंगे?

FK: मेरे द्वारा रेफ़र किए गए कुछ खास इनोवेशन के अलावा, कई एजेंसी और एडवरटाइज़र ने पिछले साल अपने काम करने के तरीके बदल दिए हैं. मैंने तीन तरह के बदलाव देखे हैं.

सबसे पहले, फ़ुर्ती बढ़ी है

मार्च में, एजेंसी और उनके क्लाइंट ने साथ में हर दिन स्टैंड-अप रखे थे, जहां उन्होंने सही इरादों के साथ ज़ोर-शोर से प्राथमिकता वाले उद्देश्यों पर ध्यान केंद्रित किया. जिन्होंने इसे पूरा किया और अब भी ऐसा कर रहे हैं उन्हें आगे भी अपने कॉम्पीटिटर की तुलना में तेज़ी से काम करने और प्रतिक्रिया देने में सक्षम होने का फ़ायदा मिलेगा.

दूसरी बात, कई ब्रैंड को स्थिरता की ज़रूरत का एहसास हुआ

स्थिर होना मजबूती है, किसी सिस्टम में गड़बड़ी का सामना करने की क्षमता. रिडंडेंसी मजबूत बनाने का एक सामान्य तरीका है. बैकअप पूर्ति, बेचने वाले दूसरे चैनल, और कई निर्माता सोर्स सभी स्थिर बनाते हैं. दुर्भाग्य से, वे लागत भी बढ़ाते हैं. बावजूद इसके, स्थिरता में असली वैल्यू होती है और 2020 ने यह साबित कर दिया. फ़ाइनेंस की दुनिया में, “स्ट्रेस टेस्ट” स्थिरता को समझने के लिए किया जाता है, उदाहरण के लिए, इकोनॉमिक शॉक के लिए एक लोन पोर्टफ़ोलियो. मैं उम्मीद करता हूं कि लीडिंग कंपनियां इसी तरह के उपाय लाएंगी, लेकिन ज़्यादातर के लिए चुनौती होगी इन सिस्टम को बनाने के लिए, ज़रूरी मार्जिन प्वाइंट को अपनाने में.

आख़िर में, सहानुभूति के लिए एक नई प्रशंसा

ब्रैंड का इस्तेमाल उपभोक्ता की ज़रूरतों का आकलन करने और ऐसे मैसेजिंग को विकसित करने के लिए किया जाता है जिससे जुड़ाव महसूस हो या उद्देश्य देने वाले मैसेज दिए जाएं. लेकिन 2020 में अपने ब्रैंड की मार्केटिंग कस्टमर के हिसाब से करने में बढ़ोतरी देखी गई. अक्सर समस्या का समाधान सहानुभूति के साथ शुरू होता है. 2020 में यह ज्ञान दोबारा सीखने को मिला, लेकिन मुझे लगता है कि अब यह लंबे समय तक रहेगा.

दूर की सोचकर सीखना और दोहराना

LC: आखिर प्रश्न के तौर पर, क्या आपके पास ब्रैंड्स के लिए कोई रैप-अप विचार हैं?

FK: बिल्कुल. अंत में मैं इस तरह से चीज़ों पर अपने विचार रखूंगा:

जानें और अपनाएं

नए कस्टमर कमाएं जा रहे हैं और नई आदतें बन रही हैं. हमारे क्लाइंट नए प्रोडक्ट, एक जैसे प्रोडक्ट, और दूसरे प्रोडक्ट लॉन्च कर रहे हैं, जो मायने रखते हैं, क्योंकि उपभोक्ताओं ने खुद को विकल्प खरीदने के लिए तैयार दिखाया है. अगर आपका लक्ष्य विकास है, तो अब समय है. क्या चल रहा है इसे जानने के लिए, एनालिटिक्स को समझें और अपनाएं.

दूर की सोचें और बदलाव करें

इसका मतलब नए प्रोडक्ट, नए चैनलों या नई सेवाओं में निवेश करना हो सकता है. अधिग्रहण या विनिवेश. इसका मतलब हो सकता है अपने ऑपरेशन में स्थिरता बनाना. लेकिन बेहतर होगा कि बाहरी फ़ैक्टर को अपनी किस्मत का फैसला करने देने की बजाय आगे बढ़ें और उसे कंट्रोल करें.

और अंत में, सुरक्षित रहें

मैं ऐसा एक सामान्य तौर पर “चलो सभी सही काम करते हैं” के लिए नहीं कहता हूं, बल्कि एक खास व्यावसायिक तौर पर कहता हूं. यह मेरी स्थिरता गाइडेंस से जुड़ा है. मुझे लगता है कि हम भविष्य के लिए, सुरक्षा, खास तौर पर कस्टमर सुरक्षा और कर्मचारी सुरक्षा को एक नए तरीके से देखेंगे. जो कंपनियां इस पर अच्छी तरह से ध्यान देंगी उन्हें उन कंपनियों से ज़्यादा फायदा होगा जो ऐसा नहीं करती हैं. मेरा मानना है कि ब्रैंड को यह सोचने की ज़रूरत है कि वे अपनी मार्केटिंग और एडवरटाइज़िंग प्लान के साथ ही अपनी सप्लाई चेन और डिस्ट्रिब्यूशन प्लान के लिए, सुरक्षा, स्वास्थ्य, और मजबूती कैसे बना सकते हैं.